60

थोड़ी सी जो उम्मीद बची थी दिल मे...हक़ीक़त से टकराया तो टूट के बिखर गए आज एक दूसरे के पास से अ&#...

Read this post on jyotirmoysarkar.blogspot.in


Jyotirmoy Sarkar

blogs from Kolkata