why Do Not Rank My Blog in Google?

Sadhana Pal
Sadhana Pal
from jhansi
2 weeks ago

Hello Sir,

 My Blog https://ajabgajabjankari.com/. This Blog DA PA & Alexa Ranking High But this Blog Post is Not Ranked in Google. aprox 500 Post Submited in This Blog But not generate traffic. Please SUggest Me solution

Replies 1 to 3 of 3 Descending

@Sadhana Pal

साधना जी,1 - जहाँ तक मैंने आपके ब्लॉग को देखा, मैंने पाया कि उसमें केटेगरी बहुत लिमिटेड है। 

2 - Happy New Year | Christmas जैसी केटेगरी पे ट्रैफिक सीजनल होता है यानि नए साल के अवसर पर ही इनके सर्च होते हैं।

3 - Quotes जैसे विषय पर पहले ही बहुत कम्पटीशन है, इसे रैंक कराने के लिए बहुत मेहनत करनी होगी और कुछ उन लोगों के कथन को डालना होगा जिसे अन्य लोगों ने न लिखा हो। 

4 - Biography में अभी आपको बहुत काम करना बाकी है, यहाँ आप ज्यादा काम करें और प्रसिद्द लोगों की जीवनी लगातार डालती रहें।

5 - Religion में कुछ भी विशेष नहीं है यहाँ भी बहुत काम की जरूरत है। 

6 - Shayari पहले से ही बहुत कम्पटीशन में है इसमें रैंक करने के लिए लगातार लिखते रहना होगा। 

7 - Finance की मैं सराहना करूँगा क्योंकि इसमें लिखना काफी मुश्किल कार्य है। अगर आप इसमें लगातार लिखें तो यह जल्दी रैंक में आयेगा। 

बस यहाँ पर आकर आपका ब्लॉग समाप्त हो जाता है। बेशक आपने 500 कंटेंट लिखे हैं किन्तु वो सभी आपको भीड़ से अलग करने के लिए काफी नहीं है। ट्रैफिक लाने के लिए लिखना तो जरूरी है ही पर उससे भी ज्यादा जरूरी है भीड़ से अलग होकर लिखना। मैं आपको सुझाव दूंगा कि -Health, Education, Insurance, Technology, Women, Society, Nation, Village, City, Politics, Science, Fashion, Beauty, Travel, Holiday, Hotel इत्यादि जैसे विषयों को अपने लेख में समाहित करने का प्रयास करें। आपने एक General Blog का निर्माण किया है अतः आपको ज्यादा से ज्यादा विषयों पर लेखन करना होगा। अपने लेखन के दायरे को बढ़ाइये ताकि ज्यादा से ज्यादा visibility search engine में बन पाये। चूँकि आपके लेखन का दायरा बेहद सिमित है अतः आपका ब्लॉग रैंक तो करता होता किन्तु वह काफी पीछे रह जाता होगा। 

अन्य बात,वेबसाइट अथवा ब्लॉग के स्ट्रक्चर का भी खास मतलब होता है रैंकिंग में। यह कार्य वे लोग तो अच्छे से कर लेते हैं जो SEO और Search Engine के function से वाकिफ हैं किन्तु वो लेखक जो इनके बारे में नहीं जानते वे website structure के महत्त्व को समझ नहीं पाते। - हिंदी वेबसाइट के लिए, Published URL को हमेशा Hinglish या फिर English में ही बनाया जाना चाहिए । अगर English में है तो in-hindi अंत में जोड़ा जा सकता है अगर hinglish में है तो in-hindi लगाना अनिवार्य नहीं। 

- लेख हमेशा हिंदी भाषा में ही लिखें हाँ कुछ ऐसे शब्द जिन्हें English में पढ़ना आसान है उसे English में कहीं कहीं जरूर लिख दें 

- Title, Description और Keyword को हिंदी इंग्लिश और हिंगलिश सबके मेल के साथ बनायें 

आपकी वेबसाइट पे केटेगरी और पब्लिश्ड यूआरएल का आपस में कोई मेल नहीं है। 

उदहारण,विषय है - अटल बिहारी जी का कथन 

इसके 2 यूआरएल बन सकते हैं :

/quotes/atal-bihari-ka-kathan-hindi-mein/

/quotes/atal-bihari-ka-kathan-in-hindi/

ध्यान रहे

quotes के अंदर atal bihari को आना चाहिए किन्तु आपकी साइट पर ऐसा नहीं होता। 

आपकी साइट पर कुछ ऐसा है:

Quotes पर क्लिक करने पर पेज आता है : motivational-inspirational-quotes-in-hindi

जब उस पेज पर दीन दयाल जी के कथन पर क्लिक करो तो आता है - pt-deen-dayal-upadhyay-quotes-in-hindi/

इसमें quotes बीच से गायब हो जा रहा है। जबकि final landing page के URL में quotes केटेगरी आनी चाहिए थी। आपकी वेबसाइट में category और landing page का आपस में कोई मेल नहीं है। हां यह कोई बड़ी गलती तो नहीं किन्तु गूगल अच्छी वेबसाइट की पहचान करता है और उसी के आधार पर उसकी रैंकिंग देता है। यह भी सच है कि आपके जैसी गलती अन्य कई वेबसाइट ने कर रखी है किन्तु वे बहुत बड़े पैमाने पर लगातार कंटेंट डालते रहते हैं अतः उनकी रैंकिंग बनी रहती है। 

अगर आप अपनी साइट में सुधार न भी करें तो कम से कम अपने लेखन का दायरा जरूर बढ़ायें। मैं स्वयं एक हिंदी ब्लॉगर हूँ और एक डिजिटल मार्केटर भी। आपके मन में अन्य कोई सवाल हो तो जरूर पूछिए। 

धन्यवाद रवि प्रकाश शर्मा, पखेरू 

Sadhana Pal
Sadhana Pal
from jhansi
2 weeks ago

रवि जी आपने बहुत ही विस्तृत समझाया इसके लिए आपका बहुत-बहुत धन्यबाद. आपके सुझावों पर हम जरूर ध्यान देंगे. रवि भाई एक समस्या यह है कि मेरी वेबसाइट 2017 में बहुत अच्छी रैंक थी ट्रेफिक भी अच्छा आ रहा था लेकिन कुछ प्रोब्लम हो जाने के कारण वेबसाइट का सीपेनल डिलीट हो गया था, बैकअप न होने के कारण उसे पुनः बनाना पड़ा इसके बाद उसका पूरा ट्रेफिक चला गया. अभी न्यू ईयर पर वेबसाइट रैंक हुई थी ट्रेफिक बहु अच्छा आया था लेकिन 10 जनवरी के बाद से फिर सभी Keword की Ranking Drop हो गयी. और फिर से कोई ट्रेफिक नहीं आ रहा हैं. तो इसके बारे में यदि आपका कोई सुझाव हो तो प्लीज हमें जरूर बताएं. धन्यबाद

Ravi Prakash Sharma
from New Delhi
2 weeks ago

@Sadhana Pal

- Web Hosting अच्छी जगह से लें ताकि Cpanel और Server up time ठीक रहे। यह भी सुनिश्चित रखें कि होस्टिंग कंपनी आपकी वेबसाइट का पूरा बैकप रखती हो। बेहद सस्ती होस्टिंग सेवाओं से बचें क्योंकि एक गलती से सालों की गयी मेहनत बर्बाद हो जाती है।

- न्यू ईयर पर आपकी वेबसाइट रैंकिंग में थी। मेरे ख्याल से उस समय ज्यादातर सर्च कीवर्ड नए साल से संबंधित रहे होंगे। न्यू ईयर का सर्च ट्रैफिक केवल 15 से 20 दिनों का होता है उसके बाद डाउन हो जाता है। 

- यदि अन्य कीवर्ड्स की मदद से आपकी वेबसाइट रैंक कर रही थी तो एक बार आप पुनः उन कीवर्ड्स को जाँच लें की वो अभी कौन से स्थान पर हैं। 

- ट्रैफिक न आने का अर्थ यह नहीं होता कि कीवर्ड्स डाउन हो गए हैं, अगर search volume कम होता है तो भी वेबसाइट का ट्रैफिक गिर जाता है। 

- अपने टॉप रैंकिंग में आने वाले कीवर्ड्स की लिस्ट बना लेनी चाहिए और वो गूगल सर्च में कौन से स्थान पर हैं वो भी नोट कर लेना चाहिए। महीने में 2 बार स्वयं अपने कीवर्ड की रैंकिंग देख लेनी चाहिए। 

- अगर आपके हिसाब से कीवर्ड उसी स्थान पर हैं जहाँ वे पहले थे तब आप समझ जायें की सर्च वॉल्यूम कम रहा, इस वजह से ट्रैफिक नहीं आया। 

- अगर कीवर्ड्स रैंकिंग नीचे गिर गयी है तो इसमें घबराने जैसी कोई बात नहीं। यही सर्च इंजन का खेल है, कभी ऊपर तो कभी नीचे। 

- गिरे हुए कीवर्ड्स पर फिर एक नया लेख बनाएं और पुराने लेख के लिंक को नए लेख से कनेक्ट करें। जिसे हम कंटेंट रिफ्रेशमेंट और लिंकिंग भी कहते हैं। 

- गूगल सर्च हमेशा फ्रेश कंटेंट पर ज्यादा फोकस्ड रहता है अतः बेहद प्रसिद्ध आर्टिकल या फिर टॉप रैंकिंग में आने वाले आर्टिकल के टॉपिक को साल में 2 बार तो जरूर लिख देना चाहिए।  जिससे आपका वो पर्टिकुलर कीवर्ड सर्च रैंकिंग में बना रहे और ट्रैफिक आपकी वेबसाइट पर आता रहे। 

- मैंने पहले भी कहा कि आपका जनरल ब्लॉग है अतः आप अपने कंटेंट का दायरा ज्यादा बढ़ायें। अधिकतम कंटेंट आपकी वेबसाइट की विजिबिलिटी को बढ़ाते हैं। कंटेंट कम रहेंगे तो विजिबिलिटी गिरती जायेगी और ट्रैफिक भी नहीं आयेगा। 

बाकि कुछ प्रमोशन के भी टिप्स है जिसपर आगे चर्चा की जाएगी।  धन्यवाद

Sadhana Pal
Sadhana Pal
from jhansi
2 weeks ago

धन्यबाद आपने बहुत ही अच्छी जानकारी दी, जब आप को समय हो तो प्लीज प्रमोशन के टिप्स भी जरूर शेयर करें.


LockSign in to reply to this thread