Other Social Causes

Trending posts

ஆடி அவஸ்தைகள்!

ஆடி அவஸ்தைகள்! "ஆடி மாதம் வந்து விட்டாலே தொல்லை தாங்க முடியவில்லை..." என்று அலுத்துக் கொண்டார் ஒரு நண்பர். "ஏன்? என்னாச்சு?"...

Mayura Rao
4 days ago

Redeeming the Hindu Identity

The pinnacle of unabashed corruption, lawlessness and suffocation of the Hindu idealism in particular that swept the country with a nationalistic fervor a few years back was largely because of the …

ED Times
5 days ago

FlippED: Our Bloggers Fight It Out Over People Judging Prostitutes & Prostitution

Is the society right in judging prostitutes over their profession? Or is it time to change our thinking process? Our writers flippED it.

Ankita and Mohit
5 days ago

70 years of Independence but no freedom for women

Fiction, travelogues, poetry, essays on art and philosophy.

Monika
5 days ago

आज़ाद सोच #redefinefreedom Alllll is welllll

ऐसी औरतें नौकरी करती क्यूँ हैं , यह सुनकर वो सोचने लगी कि मुझे हर जगह judge क्यूँ किया जा रहा है , घर पर भी , बाहर भी , बिना मुझे समझे .....

Khushdeep Sehgal
5 days ago

‘एक रात का शौहर’: गंदा है पर धंधा है ये...खुशदीप

  सामाजिक मुद्दों और क़ानून के बारीक पहलुओं पर जिस तरह की बेहतरीन फिल्में निर्माता-निर्देशक बलदेव राज चोपड़ा ने बनाईं , बॉलिवुड में वैसी म...

Shamik Byabartta
6 days ago

7 Roles in a Woman's Life

Women play vital role at homes and in our society. This post is all about 7 roles in a woman's life primarily in the household.

Shah Nawaz
6 days ago

व्यवस्था परिवर्तन के लिए सतत मेहनत की ज़रूरत है

"लोकतंत्र कमज़ोर है, वोट खरीदे जाते है, बूथ कैप्चर किये जाते है, मतगणना मे धांधली करवाई जाती है, विधायक और सांसद खरीदे जाते है, पूंजीवाद...

Ruchi Verma
6 days ago

Don't Blame my SON

What a mes­sage? Have you got this on your What­sapp? Have you seen it on your face­book time­line? Have you liked it, com­ment­ed and shared?  [...]

Raj Kumar
6 days ago

இன்ஜினியரிங் படித்தால் வேலை கிடைக்குமா??

வணக்கம், " இன்ஜினியரிங் படித்தால் எளிதில் வேலை கிடைக்கும்.  வாழ்க்கையில் சீக்கிரம் செட்டில் ஆகிவிடலாம். " இது கடந்த பதினைந்து ...

Latest posts on Other Social Causes

Loading...